|| View in English ||

मध्यप्रदेश पॅावर ट्रांसमिशन कम्पनी लिमिटेड

( मध्यप्रदेश शासन का उपक्रम )    

"विल पॅावर टू व्हील द पॅावर"

कम्पनी प्रोफाइल

                   पॉवर सेक्टर सुधार योजना के तहत् म.प्र. सरकार ने म.प्र.रा.वि.मं. को पूर्ण स्वामित्व वाली पांच सरकारी कम्पनियों में विभक्त किया है। जिनमें से एक कम्पनी विद्युत उत्पादन, एक कम्पनी विद्युत पारेषण हेतु एवं शेष तीन कम्पनियों को उनके अधिकारिक क्षेत्र में विद्युत वितरण करने का उत्तरदायित्व है। म.प्र. पॉवर ट्रांसमिशन कम्पनी लिमिटेड उक्त पांच कम्पनियों में से एक है जिन्हें म.प्र. राज्य विद्युत मंडल से विघटित कर राज्य के अंतर्गत विद्युत पारेषण संबंधी गतिविधियों के निर्वहन करने का उत्तरदायित्व सौंपा गया है। तदोपरांत मई 2006 में म.प्र. पॉवर ट्रेडिंग लिमिटेड कम्पनी को भी उत्कीर्ण कर पॉवर ट्रेडिंग व इससे संबंधित गतिविधियों को निवर्हन करने की जिम्मेदारी दी गई है।
                   मध्य प्रदेश पॉवर ट्रांसमिशन कम्पनी लिमिटेड को दिनांक 22.11.2001 को निगमित किया गया । दिनांक 01.07.2002 को प्रतिपादित “संचालन व प्रबंधन निगमित अनुबंध” के तहत् म.प्र. राज्य विद्युत मण्डल की ओर से कम्पनी ने प्रदेश के अंदर विद्युत पारेषण संबंधी गतिविधियों का संचालन आरंभ किया। विद्युत अधिनियम 2003 की धारा 39 उपधारा (प) द्वारा प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए मध्य प्रदेश शासन ने म.प्र. पॉवर ट्रांसमिशन कम्पनी लिमिटेड को राज्य पारेषण उपयोज्यता के रूप में दिनांक 01.06.2004 से नामित किया।
                    मध्य प्रदेश शासन की अधिसूचना क्रमांक 3676/FRS/12/13/2002 दिनांक 31.05.2005 के अधीन, कम्पनी को दिनांक 01.06.2005 से पूर्ण कार्यात्मक स्वायत्तता प्रदान की गई। मध्य प्रदेश राज्य विद्युत मण्डल के घटक/प्रतिनिधि से प्रथृकतः दिनांक 01.06.2005 से कम्पनी ने अंतर्राज्यीय विद्युत पारेषण, राज्य पारेषण उपयोज्यता एवं राज्य भार प्रेषण केन्द्र के विभिन्न कार्यों को अपने स्वायत्त व्यापार के रूप में ग्रहण कर आरंभ कर दिया । कम्पनी के पंजीयन हेतु अधिकृत शासकीय पंजीयक ने म.प्र. पॉवर ट्रांसमिशन कम्पनी लिमिटेड को अपने व्यापार को दिनांक 16.07.2002 से आरंभ करने के लिये प्रमाण-पत्र जारी किया है।