|| View in English ||

मध्यप्रदेश पॅावर ट्रांसमिशन कम्पनी लिमिटेड

( मध्यप्रदेश शासन का उपक्रम )    

"विल पॅावर टू व्हील द पॅावर"

ओपन एक्सेस – विद्युत अधिनियम 2003 के अंतर्गत दिये गये प्रावधान

"ओपन एक्सेस" से आशय है कि ट्रांसमिशन लाईनों या वितरण प्रणालियों या ऐसी लाईनों या प्रणाली के साथ ट्रांसमिशन लाईनों या वितरण प्रणाली या ऐसी लाईनों या प्रणाली के साथ संबद्ध सुविधाओं के लिये गैर विभेदकारी उपबंध, जो किसी अनुज्ञप्तिधारक या उपभोक्ता या किसी व्यक्ति द्वारा जो उपयुक्त आयोग द्वारा विनिर्दिष्ट विनियमों के अधीन उत्पादन में लगा है।

अनुभाग 9 (2) कैप्टिव जनरेशन (स्वयं के लिये उत्पादन)
प्रत्येक व्यक्ति जिसने स्वयं के उपयोग हेतु विद्युत उत्पादन संयंत्र स्थापित किया हो एवं जिसका संचालन एवं संधारण स्वयं के द्वारा किया जाता हो, वह ओपन एक्सेस के अंतर्गत उत्पादित विद्युत का उपयोग अपने स्वयं के परिसर पर कर सकता है। प्रकरणों के अनुसार उपरोक्त ओपन एक्सेस का लाभ केंद्रीय पारेषण यूटीलिटी अथवा राज्य पारेषण यूटीलिटी के द्वारा पर्याप्त पारेषण सुविधा की उपलब्धता सुनिश्चित करने के पश्चात ही किया जा सकेगा। तथा, ट्रांसमिशन सुविधा की उपलब्धता को लेकर किसी भी प्रकार के विवाद की स्थिति में उपयुक्त आयोग द्वारा निर्णय लिया जावेगा।

अनुभाग-13 (1)-राज्य भार प्रेषण की स्थापना
राज्य सरकार द्वारा एक केंद्र स्थापित किया जावेगा जिनके द्वारा उपरोक्त प्रकार के अधिकारों एवं कार्यों का निष्पादन किया जावेगा।

अनुभाग-32 (2) (अ)
मध्यप्रदेश में अनुज्ञप्तिधारक/उत्पादकों एवं राज्य ट्रांसमिशन यूटीलिटियों के मध्य हुये अनुबंध के अनुसार राज्य भार प्रेषण केंद्र सर्वोत्कृष्ट विद्युत के नियतिकरण एवं संप्रेषण के लिये उत्तरदायी होगा।

अनुभाग 32-3
राज्य भार प्रेषण केंद्र द्वारा उत्पादन कम्पनियों एवं राज्य के अंतर्गत विद्युत का ट्रांसमिशन कर रहे अनुज्ञप्तिधारकों एवं राज्य आयोग द्वारा घोषित अन्य धारकों से निर्धारित शुल्क की उगाही एवं संग्रहण का कार्य किया जावेगा।

अनुभाग 39 (2) (द)
राज्य ट्रांसमिशन यूटीलिटियों द्वारा अपनी ट्रांसमिशन संरचना के माध्यम से गैर विभेदकारी ओपन एक्सेस की उपलब्धता, निम्न द्वारा इस्तेमाल हेतु सुनिश्चित की जाएगी:-
(i) किसी भी अनुज्ञप्तिधारक अथवा उत्पादन कम्पनी द्वारा ट्रांसमिशन शुल्क का भुगतान करने पर
                                                            अथवा
(ii) विद्युत अधिनियम 2003 के अनुभाग 42 की उपधारा (2) के अंतर्गत राज्य ट्रांसमिशन इकाई द्वारा किसी भी उपभोक्ता को खुली पहुंच (ओपन एक्सेस) प्रदान किये जाने एवं उपभोक्ता द्वारा राज्य आयोग द्वारा अनुमोदित ट्रांसमिशन शुल्क एवं अधिभार का भुगतान किये जाने पर
साथ ही, अगर कोई व्यक्ति जिसने स्वयं के उपयोग हेतु विद्युत उत्पादन संयंत्र स्थापित किया हो एवं उत्पादित विद्युत का उपभोग अपने स्वयं के परिसर पर करता हो तो ऐसी परिस्थिति में उपरोक्त अधिभार देय नहीं होगा।

टीपः- i. विद्युत अधिनियम के अनुभाग-40 में ट्रांसमिशन अनुज्ञप्तिधारक को इस हेतु सेवायें एवं कार्यों का विवरण दिया गया है।
       ii. इस अनुवादित हिंदी संस्करण के किसी अंश, वाक्य या शब्द के आशय या संदर्भानुसार अर्थ के विषय में संशय की स्थिति में मूल अंग्रेजी संस्करण के अनुसार आशय या अर्थ ही मान्य व लागू होगा।